घर किराए पर लेने और देने की सही प्रक्रिया

Posted by

यदि आप भी दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में अपना घर किराए पर देने या लेने के आकांक्षी हैं तो इन महत्वपूर्ण बातों का ध्यान यदि आप रखते हैं तो आपको किसी तरह की समस्या नहीं होगी।

मकान मालिक:

यदि आप प्रॉपर्टी के मालिक हैं तो आपका सबसे बड़ा उद्देश्य यही रहता है कि आपको सही किरायेदार मिले जो आपके घर को अपने घर की तरह ही रखे, समय पर किराए का भुगतान करे और एग्रीमेंट की शर्तों का पालन भी करे।

किराए पर देने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपके किराएदार का आपने पुलिस वेरिफिकेशन चेक कर लिया है किराए की सभी शर्तो पर उनसे बात कर ली है और बिल्कुल साफ तरीके से उन सभी पर उनकी सहमति ले ली है।

किराया देने की तारीख, किराए में होने वाली सालाना बढ़ोतरी और खाली करने के समय और उस समय लागू होने वाली शर्तों के बारे में भी आप अपने सहमति पत्र (एग्रीमेंट) में साफ-साफ तरीके से लिख दें।

स्वयं और अपने किराएदार के हितों को ध्यान में रखते हुए आप अपने एग्रीमेंट को रजिस्टर्ड भी करवा सकते हैं। किसी भी विपरीत स्थिति में यह आप दोनों के लिए काफी सहायक सिद्ध होगा।

किरायेदार:

यदि आप किराए पर घर लेने के लिए ढूंढते हैं तो सबसे पहले आप निश्चित करें कि आपके बच्चों के स्कूल आपका ऑफिस यह सभी चीजें आपके किराए के घर के आस-पास हो ताकि आप ट्रांसपोर्टेशन में लगने वाले खर्चों और समय को कम कर सकें।

आपकी जो भी अपेक्षाएं अपने किराए के घर को लेकर हों वह अपने मकान मालिक के साथ में आप एक बार बैठ कर बात जरूर करें।

किराए का घर लेते समय आमतौर पर आपको यह खर्च वहन करने पड़ते हैं:

  • एडवांस किराया: एक महीने का किराया
  • सिक्योरिटी: एक महीने का किराया
  • ब्रोकरेज: एक या आधा महीने का किराया
  • घर शिफ्टिंग के चार्ज
  • दस्तावेज

आइये एक उदाहरण से इसको समझते हैं मान लीजिए कि आप जो घर किराये पर ले रहे हैं उसका किराया रु० १०००० प्रति माह है

  • एडवांस किराया: एक महीने का किराया – रु० १००००/-
  • सिक्योरिटी: एक महीने का किराया – रु० १००००/-
  • ब्रोकरेज: एक या आधा महीने का किराया – रु० 5०००/-
  • घर शिफ्टिंग के चार्ज – रु० १००००/-
  • दस्तावेज – रु० १०००/-

कुल खर्च : रु० ३६०००/-

यदि आप एक अपार्टमेंट किराये पर लेते हैं तो मासिक रखरखाव शुल्क का वहन भी किरायेदार द्वारा ही किया जाता है और वह सोसाइटी, क्षेत्र , और अपार्टमेंट के क्षेत्रफल पर निर्भर करता है

घर किराए पर लेने एवं देने को लेकर ये जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट्स में हमे अवश्य बताएं

Leave a Reply